The Chopal

पति के फोटो न खिंचवाने से, पत्नी ने लगाया मौत को गले, शादी को हुए थे 15 महीने

Uttar Pradesh : इटावा इलाके में नव विवाहित जोड़े में से पत्नी ने खुद को फांसी लगाकर की आत्महत्या. इसी बीच इस केस में फांसी लगाने के पीछे की वजह अजीबो गरीब सामने आई है. वजह यह है कि मंदिर परिसर में पति ने अपनी पत्नी के साथ फोटो नहीं खिंचवाई, इसी कारण से नव विवाहिता ने खुद को घर के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इन दोनों की डेढ़ वर्ष पहले ही शादी हुई थी.
   Follow Us On   follow Us on
पति के फोटो न खिंचवाने से, पत्नी ने लगाया मौत को गले, शादी को हुए थे 15 महीने

The Chopal, UP News : यूपी के इटावा इलाके में नव विवाहित जोड़े में से पत्नी ने खुद को फांसी लगाकर की आत्महत्या. इसी बीच इस केस में फांसी लगाने के पीछे की वजह अजीबो गरीब सामने आई है. वजह यह है कि मंदिर परिसर में पति ने अपनी पत्नी के साथ फोटो नहीं खिंचवाई, इसी कारण से नव विवाहिता ने खुद को घर के कमरे में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. इन दोनों की डेढ़ वर्ष पहले ही शादी हुई थी. पुलिस ने मौके पर पहुंचकर सबको कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया है.

पुलिस अधिकारी इस केस पर गहनता से जांच कर रहे हैं. पुलिस की जानकारी के मुताबिक आपको बता दें कि पैनल से फास्ट मौसम करवाया गया है. इसी बीच इस चांस में जो भी पूर्ण तथ्य सामने आने वाले हैं उसे आधार पर कार्रवाई की जाएगी. यह घटना बकेवर क्षेत्र की है.

बीते मंगलवार की सुबह नव विवाहित ने सिर्फ इतनी सी बात को लेकर आत्मदाह है कर लिया कि उसके पति ने अपनी पत्नी के साथ मंदिर के परिसर में फोटो नहीं खिंचवाई. जिस कारण से ना विवाहिता ने अपने ससुराल में ही आत्महत्या कर लिया. इसकी सूचना पति ने पुलिस को दी जिसके बाद पुलिस ने कार्यवाही कर सबको पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया. इस सब को देखते हुए आपको बता दें कि महिला का विवाह 15 महीने पहले ही हुआ था.

पत्नी के साथ पति ने नहीं खिंचवाई फोटो, तो लगा ली पत्नी ने खुद को फांसी

यूपी के इटावा में स्थित नोड़ों गांव निवासी और मृतक महिला के पति बृजेंद्र सिंह ने यह बताया कि उसकी शादी पिछले वर्ष मार्च महीने में औरैया जिले के अजीतमल थाना के चिटकापूर गांव की 22 वर्षीय प्रतिष्ठा के साथ हुई थी. इसी बिच उसने बताया कि सोमवार कि सुबह को वे लोग अपने परिजनों के साथ खितौरा गांव में अपने चचेरे भाई के लिए सुकन्या देखने के लिए जय गुरुदेव मंदिर पर पर गए हुए थे. जिसके बाद में वह कुछ जरुरी सामान लेने के लिए निवाड़ी कला गया था. इसी बिच जब उसकी पत्नी प्रतीक्षा ने मंदिर में फोटो खिंचवाने को कहा लेकिन उसने मना कर दिया. इसी बात से वह नाराज हो गयी.

दुपट्टे से किया आत्मदाह

सोमवार कि रात को सभी लोग खाना खाने के बाद में छत पर सोने के लिए चले गए. पत्नी भी उसके पास छत पर सोई हुई थी. लेकिन जब रात के 10 बजे बिजली आयी तो पत्नी छत से आकर अपने कमरे में सो गयी. उसने कमरे को अंदर से बंद करके पंखे से दुपट्टा बांधकर आत्महत्या कर ली.

रात के 2 बजे चला, मौत का पता

रात के समय करीब 2 बजे आँख खुलने पर निचे आया तो उसने दरवाजा खोलने के लिए आवाज लगाई. लेकिन जब कुछ समय तक दरवाजा नहीं खुला तो उसने खिड़की मैं झाँककर देखा तो उसकी पत्नी फंदे पर लटकी हुई थी. जिसकी सूचना पुलिस को दी.

कमरे कि दीवार तोड़कर निकला गया शव

सुचना मिलने पर प्रभारी निरीक्षक पुलिस टीम के साथ मौके पर पहुंचकर,   सारी घटना कि जानकारी अपने उच्चाधिकारियों को सुचना दी. इसी बीच कमरे का दरवाजा बंद होने के कारण दूसरे कमरे कि दीवार तोड़कर शव को बाहर निकाला गया. पुलिस के साथ वहाँ पहुंची फॉरेनसिक टीम ने जाँच की. तहसीलदार भरथना राज कुमार सिंह भी मौके पर पहुंचे। जिसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए भिजवाया गया। प्रभारी निरीक्षक राकेश शर्मा ने बताया है कि महिला के शव का पोस्टमॉर्टम पैनल से कराया जा रहा है। पोस्टमॉर्टम रिपोर्ट के आधार पर कार्रवाई की जायेगी।