The Chopal

पूर्व IPS ने मकान के नीचे बना रखे थे 650 लॉकर, इतनी नकदी देख अधिकारी रह गए हैरान

 

The Chopal, Noida

IPS RN Singh Income Tax Raid : उत्तर प्रदेश में फिलहाल असेंबली चुनावों का शोर है. परंतु इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax) पुरजोर तरीके से अपने कार्य में लगा हुआ है. इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने नोएडा (Noida) में पूर्व IPS के घर पर रेड डालकर करोड़ों रुपये का जखीरा निकाला किए हैं. कैश इतना ज्यादा है की उनकी गिनती के लिए मशीन मंगानी पड़ गई.

सूत्रों से मिली जानकारी मुताबिक नोएडा (Noida) के सेक्टर-50 रहने वाले पूर्व IPS आरएन सिंह (IPS RN Singh) का घर हैं. वह उत्तर प्रदेश कैडर में 1983 बैच के डीजी रैंक (DG Rank Officer) के अधिकारी रहे हैं. वह अपनी पत्नी के साथ मिर्जापुर में रहते हैं. वहीं सेक्टर 50 नोएडा में उनका बेटा सुयश और उसका परिवार रहता है.

इनकम टैक्स विभाग को मुखबिर से इस घर में बेनामी संपत्ति रखे होने की सुचना मिली. जिसके बाद विभाग की टीम सोमवार देर शाम वहां पहुंची. टीम को वहां जाकर पता चला कि सुयश ने घर के बेसमेंट में ‘मानसम कंपनी’ बना रखी है. यह कंपनी किराये पर लोगों को लॉकर्स की सुविधा प्रदान करवाती  है. 

3 करोड़ रुपये मिले कैश

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax) को घर के बेसमेंट में लगभग 650 लॉकर मिले. देर रात्रि उनमें से 3 लॉकर खोले गए, जिनमें नकद नोट व जेवरात भरे हुए थे. सम्बंधित विभाग को उन लॉकर्स में से करीब 3 करोड़ रुपये कैश बरामद हुआ. इन नोटों की गिनती के लिए विभाग को मशीनें मंगानी पड़ी.

नोटों व आभूषणों से भरे मिले लॉकर 

विभागीय सूत्रों का कहना है कि इनकम टैक्स  डिपार्टमेंट की रेड (Income Tax Raid) में अब तक कई सारे लॉकर्स खोले जा चुके हैं. उन लॉकर्स से विभाग को बेशुमार पैसा व जेवरात मिले हैं. 

वहीं सूत्रों के मुताबिक लॉकर किराये पर देने के नाम पर कई सारी अनियमितताएं पाई गई हैं. मसलन, वहां लॉकर लेने वालों के केवाईसी (KYC) नहीं मिले हैं. और वहीं काफ़ी लॉकरों का दूसरा रिकॉर्ड नहीं मिला है. 

मकान के बेसमेंट में बने हुए हैं 650 लॉकर्स

आयकर विभाग अब इस बात का पता लगा रहा है कि लॉकर सुविधा शुरू करने के लिए क्या पूर्व IPS के बेटे ने उचित तरीके से परमीशन ले रखी थी. जिन लोगों ने उन 650 लॉकर्स में धन छुपा रखा है, वह लोग कौन हैं.

यह भी पता लगाया जा रहा है की कहीं यह सारा धन ब्लैक मनी तो नहीं, जिसे दुनिया की नजर से छिपा कर बेसमेंट में छिपा दिया गया था. इस खेल में पूर्व IPS आरएन सिंह (IPS RN Singh) व उनके बेटे की भूमिका की भी जांच हो रही है.

आईपीएस के बेटे के पास सारे रिकॉर्ड 

और इस मामले में अपने घर पर छापेमारी के बारे में पूछे जाने पर आरएन सिंह (IPS RN Singh) ने कहा कि वे अपने गांव में थे. इनकम टैक्स रेड (Income Tax Raid) की सूचना मिलने पर वे नोएडा में पहुंचे.

उन्होंने कहा कि उनका बेटा क्लाइंट्स को लॉकर्स सर्विस उपलब्ध करवाता है. यह लॉकर्स किन्होंने किराये पर ले रखे हैं, इसका सभी रिकॉर्ड उनके बेटे के पास मौजूद है.