The Chopal

खुशखबरी! किसान करें इस खास सरकारी योजना में निवेश, इतने दिनों बाद चक्रवृद्धि ब्याज से डबल होगी रकम

 

The Chopal: देश के किसानों को आर्थिक रूप से मजबूत बनाने के लिए और उनको आर्थिक सहायता देने के लिए केंद्र सरकार द्वारा कई तरह की योजनाएं भी चलाई जाती हैं। इन्हीं सरकारी योजनाओं में से एक है पोस्ट ऑफिस की किसान विकास पत्र योजना (Post Office Kisan Vikas Patra Scheme)। भारतीय डाकघर की इस योजना के जरिए किसान अपने बचाए गए पैसों को इस योजना में जमा कर सकते हैं। एक तरफ यह योजना जहां बचत के पैसों पर सुरक्षा की पूरी गारंटी भी देती है तो वहीं किसानों को बंपर ब्याज का लाभ भी मिलता है। इस योजना की सबसे खास बात ये है कि एक समय अवधि के बाद इसमें निवेश गए पैसे दोगुने हो जाते हैं। आइये इस खबर के माध्यम से जानते हैं इस योजना की पूरी डिटेल।

क्या है पोस्ट ऑफिस की ये किसान विकास पत्र स्कीम

किसान विकास पत्र (KVP) इंडियन पोस्ट की तरफ से पेश की जाने वाली छोटी बचत योजनाओं में से एक योजना है। अगर आप अपनी बचत के पैसों को काही जमा करना चाहते हैं और कोई जोखिम भी नहीं लेना है तो, आपके लिए यह योजना बचत करने का एक सबसे अच्छा विकल्प साबित हो सकती है। इस योजना के नाम से ही यह भी साफ हो जाता है कि इसे खास किसानों के लिए बनाया गया है लेकिन फिर भी कोई भी व्यक्ति इसमें निवेश भी कर सकता है। इसमें पैसा जमा करने के लिए आपको एक किसान विकास पत्र सर्टिफिकेट भी खरीदना होगा। आप इसमें कम से कम 1000 रुपये निवेश से भी शुरू कर सकते हैं वहीं पैसा जमा करने की कोई भी ऊपरी सीमा निर्धारित भी नहीं की गई है। लेकिन अगर आपको 50 हजार रुपये से ज्यादा की रकम जमा करना करना है तो इसके लिए पैन कार्ड भी उपलब्ध कराना होगा।

कौन खुलवा सकता है इसमें खाता

पोस्ट ऑफिस की इस योजना में कोई भी व्यक्ति जिसकी उम्र 18 साल से अधिक है वह अपना खाता खुलवा सकता है। हालांकि खाता खुलवाने के लिए कोभी आयु सीमा निर्धारित भी नहीं की गई है। इस योजना में किसी अभिभावक द्वारा नाबालिग का खाता भी खुलवाया जा सकता है।

क्या है योजना मे ब्याज

इस योजना में चक्रवृद्धि आधार पर 7.2 % तक ब्याज का लाभ मिलता है। पोस्ट ऑफिस की आधिकारिक वेबसाइट पर मौजूद जानकारी के अनुसार 123 महीने यानी 10 सालों के अंदर इसमें जमा की गई रकम दोगुनी भी हो जाती है। वहीं इस स्कीम के तहत खाते को गिरवी भी रखा जा सकता है यै फिर ट्रांसफर भी जरूर किया जा सकता है।

Also Read: राजस्थान में कड़ाके की सर्दी के बीच पहली मावठ से राहत, 48 घंटों में इन 7 जिलों में बारिश के आसार