The Chopal
लाखों रुपए दहेज को नकारा , दुल्हन और एक रुपए दहेज को स्वीकारा, बोला दुल्हन ही दहेज है
 

हरियाणा में आज भी दहेज प्रथा और बाल विवाह जैसी कुप्रथाएं प्रचलित है. लेकिन लेकिन युवाओ द्वारा इन कुरीतियों को खत्म करने के लिये लगातार कोशिश की रही हैं. 

मामला ऐलनाबाद है जहां खण्ड के गांव पोहडका में किसान ओमप्रकाश गोदारा के बेटे सत्यवान गोदारा ने शादी में दहेज लेने से इंकार कर दिया. सत्यवान की शादी क्षेत्र में चर्चा का विषय बन गई है. सत्यवान ने लाखों के दहेज को मना करते हुए स्त्रीधन के रूप में एक रुपए और नारियल लेकर दुल्हन घर लाया.

सत्यवान के पिता ओमप्रकाश गोदारा ने बताया कि उनके दो बेटे है और दोनों ने उच्च शिक्षा प्राप्त की है. सत्यवान नोएडा की कंपनी में एरिया मैनेजर की नौकरी करता है. शादी के समय सत्यवान ने शर्त रखी थी कि वो ना तो शादी में ज्यादा खर्च करेगा और ना ही दहेज लेगा.

सत्यवान के पिता किसान है और उसका रिश्ता भी एक किसान परिवार में तय हुआ. जिस लड़की से सत्यवान की शादी हुई उसका रीट में सिलेक्शन हुआ है. इस शादी को लेकर गांव के पूर्व उपसरपंच राजेंद्र डूडी ने सत्यवान के परिवार की सराहना की.