The Chopal
Cotton News 2021 : सरकारी दखल हुआ तो कॉटन होगा सस्ता
 

The Chopal , Kissan Samachar 

Cotton News 2021 : मंगलवार को कॉटन बाजार में कुछ दबाव दिखाई दिया. हालांकि देश भर की मंडियों में कॉटन की आवक अभी भी लगभग पौने दो लाख गांठों के स्तर पर बनी हुई है और किसी भी जोन में बड़ा परिवर्तन देखने को नहीं मिल रहा. मध्य भारत में लगभग एक लाख, उत्तर भारत में 40 हजार, दक्षिण भारत में 37 हजार गांठों की आवक स्तर कई दिनों से बना हुआ है. भाव की दृष्टि से भी बाजार में कोई बड़ा परिवर्तन नहीं है. अंतर्राष्ट्रीय बाजार में भी कॉटन कारोबार स्थिर दिखाई दे रहा है और ओमीक्रोन कोरॉना की दहशत में बाजार गति नहीं पकड़ पा रहा. देश की प्रमुख एग्रो कमोडिटी एजेंसी स्मार्ट इन्फो के अनुसार मंगलवार को महाराष्ट्र में 52 हजार गांठों की आवक हुई. और भाव 7500 से 8300 के बीच रहा नागपुर लाइन में 75 आर डी 29 एमएम का भाव प्रति केडी 65500 से 66000 और जलगांव में 65000 से 65500 का भाव बोला गया. अलवर राजस्थान में करीब 3200 गांठों की आवक हुई. तथा अलवर खैरथल, बहरोड लाइन पर 28.5 एमएस केडी 63300 से 63600 के भाव देखे गए.

मध्य प्रदेश में 16000 गांठों की आवक के साथ कपास का भाव 6000 से 8400 के बीच बना हुआ है यहां 29 एमएस 75 आरडी का भाव 63000 से 65200 के स्तर पर है. गुजरात में मंगलवार को 40000 गांठों की आवक हुई और कपास का भाव 1400 से 1750 बोला गया. वहां 29 एमएम 75 आरडी का भाव 65600 से 66200 के बीच दिखाई दिया. उत्तरी राज्यों राजस्थान, हरियाणा और पंजाब में करीब 27000 गांठों की आवक हुई. जबकि नरमा का भाव 8700 के बीच दिखाई दिया. उत्तर भारत की गंगानगर मंडी में नरमे का भाव 8700, संगरिया में 8780, पदमपुर में 8820, सिरसा मंडी में 8545 में जानकारों का कहना है कि यदि सरकार द्वारा कोई हस्तक्षेप नहीं किया गया. तो बाजार में तेजी बनी रह सकती है यदि कॉटन खल को वायदा बाजार में बाहर किया गया तो खल के साथ-साथ कॉटन बाजार भी मंदी देख सकता है.