The Chopal

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने राजस्थान के इस जिलें में 33834 लोगों को 1580 करोड़ का कर्ज देकर किया रिकार्ड स्थापित

 

The Chopal, कोटा : देश की केंद्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने रविवार को राजस्थान के कोटा में ऋण वितरण का रिकॉर्ड स्थापित किया। राजस्थान के कोटा जिले के दशहरा मैदान में विशाल ऋण वितरण मेला लगा। जिसमें कुल 33834 लाभार्थियों को 1579.56 करोड़ का ऋण भी जारी किया। लोकसभा अध्यक्ष ओम बिरला और वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने सभी लाभार्थियों को ऋण राशि के चेक वितरित किए। एक ही आयोजन में लाभार्थियों की संख्या और जारी हुई ऋण राशि की द्रष्टि से यह देश का अब तक सबसे बड़ा और सफल ऋण मेला भी रहा। लाभार्थियों की सूची में सड़क पर सब्जी, फल, फूल, चाय-नास्ता, अन्य फुटकर सामग्री बेचने वाले स्ट्रीट वेंडर्स से लेकर लघु उद्यमी, स्वयं सहायता समूह, पशुपालक, किसान, युवा आदि शामिल हैं।

वित्त मंत्री सीतारमण ने आगे कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का सपना है कि देश के नवनिर्माण में हर व्यक्ति का पूरा योगदान हो। विभिन्न योजनाओं के तहत जारी यह ऋण पीएम मोदी के संकल्प की सिद्धी में अभावग्रस्त और वंचित वर्ग की भागीदारी भी सुनिश्चित करेगा। लोक सभा अध्यक्ष ओम बिरला ने कहा कि समाज के सबसे कमजोर वर्ग के सशक्तिकरण की दिशा में केंद्र सरकार की यह बड़ी पहल है। इसके बेहद सफल और उत्साहजनक परिणाम जल्द सामने आएंगे।

आपके गारंटर खुद देश के प्रधानमंत्री मोदी हैं- निर्मला

देश की वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कोटा की धरती से देश भर के स्ट्रीट वेंडर्स, युवाओं, किसान, पशुपालकों, स्वयं सहायता समूहों महिलाओं का आदि को आव्हान भी किया कि अपनी आर्थिक समृद्धि के लिए वे बैंक से ऋण भी लें। आपको वहां सोना, जमीन या अन्य किसी चीज की गारंटी देने की जरूरत बिल्कुल नहीं हैं। आपके गारंटर स्वयं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हैं। निर्मला सीतारमण ने कहा कि देश में अब हालात भी बदल गए हैं। देश के बैंक अब आम आदमी और गरीब के साथ खड़ी हैं। यही कारण है कि पिछले तीन महीने से बैंकों के अधिकारियों ने कोटा और बूंदी की सभी पंचायत से लेकर कस्बों और शहर में घूम-घूम कर विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी और ऋण के सभी फॉर्म भरवाए। और यही कारण है कि कोटा में हम एक ही दिन में 1580 करोड़ के ऋण को जारी किए हैं।

लक्ष्य से छह गुना पशुपालन ऋण

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि किसी भी योजना के तहत हर जिले ऋण के लिए लक्ष्य निर्धारित किए जाते है। कोटा संभाग में वित्तीय वर्ष 2022-23 के लिए पशुपालक ऋण वितरण के लिए 10 करोड़ रूपए का लक्ष्य निर्धारित भी किया गया था। लेकिन उससे लगभग सात गुना अधिक 68.15 करोड़ के ऋण जारी भी किए गए हैं।

महिलाओं से किया आगे आने का आव्हान

वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने महिलाओं का आव्हान किया कि वे आगे आएं और समूह बनाकर अपनी आर्थिक समृद्धि की राह को प्रशस्त करें। इसके लिए वे कृषि उपज समूह को तैयार करें। इस उपज को उत्पन्न करने, उसके प्रसंस्करण और उसके भंडारण की व्यवस्था के लिए उन्हें बहुत कम दर पर लोन मिलेगा। इससे उनके लिए प्रगति की नई राह खुलेगी।

Also Read: राजस्थान देश में बना नंबर 1 राज्य, इस बार यूपी को पछाड़ देश को दिए इतने IAS ऑफिसर