The Chopal

Rajasthan Paper Leak: शिक्षक भर्ती पेपर लीक प्रकरण पर गहलोत सरकार की बड़ी कारवाई, सीएम ने दिया बड़ा संदेश

 

The Chopal, जयपुर: पेपर लीक के प्रकरणों पर अब राजस्थान राज्य सरकार एक्शन मोड में दिख रही है। प्रदेश जीरो टॉलरेंस की नीति का दावा करने वाली राज्य सरकार ने अब वरिष्ठ अध्यापक प्रतियोगी परीक्षा प्रश्न पत्र लीक मामले में शिक्षा विभाग के चार कार्मिकों को राजकीय सेवा से अब बर्खास्त किया गया है।

सरकार द्वारा इन्हें किया गया बर्खास्त -

- सुरेश कुमार, प्रधानाध्यापक, प्रवेशिका संस्कृत विद्यालय, ठेलिया (जालोर)

- भागीरथ, वरिष्ठ अध्यापक-विज्ञान, राउमावि, गोल (सिरोही)

- रावताराम, वरिष्ठ अध्यापक-संस्कृत, महात्मा गांधी राजकीय विद्यालय, जसवन्तपुरा (जालोर)

- पुखराज, कनिष्ठ सहायक, राउमावि, झाब (चितलवाना), जालोर

पहले जारी हुआ आरोप पत्र, फिर हुई बर्खास्तगी

राजस्थान लोक सेवा आयोग, अजमेर द्वारा 24 दिसम्बर, 2022 को वरिष्ठ अध्यापक प्रतियोगी परीक्षा के अन्तर्गत आयोजित सामान्य ज्ञान की परीक्षा में प्रश्न पत्र लीक का मामला सामने आया था। प्रकरण में उक्त कार्मिकों को संबंधित विभाग द्वारा राजस्थान असैनिक सेवाएं (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम 1958 के नियम-13 के अंतर्गत शक्तियों का उपयोग करते हुए 24 दिसंबर को निलंबित किया गया था और नियम-16 के तहत आरोप पत्र दिया गया था।

आरोप साबित होने पर हुआ ये एक्शन

राज्य में अनुशासनात्मक अधिकारियों द्वारा दी गई प्रथम सूचना रिपोर्ट एवं जिला पुलिस अधीक्षक, उदयपुर से प्राप्त दुराचरण रिपोर्ट के आधार पर आरोप प्रमाणित पाए जाने एवं मामले की गंभीरता के दृष्टिगत चारों कार्मिकों को तुरंत राजकीय सेवा से बर्खास्त किया गया है। और सरकार द्वारा उक्त कार्यवाही राजस्थान सिविल सेवाएं (वर्गीकरण, नियंत्रण एवं अपील) नियम 1958 के नियम-19 (ii) के प्रावधानों के अंतर्गत की गई है।

'बर्खास्तगी' पर क्या बोले राज्य सीएम गहलोत

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने बयान में कहा है कि शिक्षक भर्ती पेपर लीक मामले में जेल में बंद आरोपी 4 सरकारी कर्मचारियों को नौकरी से बर्खास्त (Dismissed from service) अब कर दिया गया है। वहीं पेपर लीक में वांछित चल रहे आरोपियों द्वारा अवैध तरीके से किए गए निर्माणों को कानूनी प्रक्रिया के अनुरूप ध्वस्त किया गया है।

गहलोत ने आगे कहा कि इस संबंध में विधानसभा से वर्ष 2022 में पारित नए कानून के अनुसार इन पर आगे भी प्रभावी कार्रवाई की जाएगी। राजस्थान के युवाओं के भविष्य के साथ खिलवाड़ करने की कुत्सित सोच रखने वाले बेईमानों पर राजस्थान सरकार बड़ी कठोर कार्रवाई जारी रखेगी‌।

'राजनीति चमकाने वालों से रहें सावधान!'

सीएम गहलोत ने ये भी कहा कि कुछ लोग इस अति संवेदनशील मुद्दे पर अपनी राजनीति चमकाना भी चाहते हैं। युवा इनसे सचेत रहकर आगामी भर्तियों के लिए अपनी पूरी तैयारी जारी रखें‌। और हम एक भी मेहनती युवा के साथ अन्याय नहीं होने देंगे।