The Chopal

राजधानी जयपुर को जल्द 'वंदे भारत' ट्रेन की सौगात, मात्र 2 घंटे में पहुँच जायेगे दिल्ली, सफर होगा आसान

 

The Chopal, नई दिल्ली. देश की राजधानी दिल्ली से जयपुर और जयपुर से दिल्ली जाने वाले यात्रियों का सफर और भी आसान हो जाएगा, क्योंकि कभी 4 से 5 घंटे में पूरी होने वाली इस यात्रा में अब मात्र पौने 2 घंटे लगेंगे. दिल्ली और जयपुर के बीच प्रस्तावित वंदे भारत एक्सप्रेस के दौड़ने से आने वाले दिनों में ऐसा होगा. इससे पहले दिल्ली-जयपुर-मुंबई एक्सप्रेस वे के निर्माण से दिल्ली से जयपुर और जयपुर से दिल्ली जाने वाले यात्री बेहद खुश थे.

दरअसल हाई-स्पीड कॉरिडोर से दोनों शहरों के बीच यात्रा का समय घटकर 2.5-3 घंटे तक होने की उम्मीद थी. हालांकि, दिल्ली और जयपुर के बीच प्रस्तावित वंदे भारत यह समय और भी कम हो जाएगा. दिल्ली और जयपुर के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस के मार्च 2023 से पहले शुरू होने की उम्मीद बन रही है. हालांकि, फिलहाल रूट के लिए टिकट की कीमतों पर कोई स्पष्टता नहीं बन रही है.

180 किमी/घंटे की तेज रफ्तार पकड़ सकती है ‘वंदे भारत’

दिल्ली और वाराणसी के बीच वंदे भारत एक्सप्रेस की टिकट की कीमत चेयर कार के लिए करीब 1800 रुपये और एक्जीक्यूटिव कोच के लिए 3000 रुपये तक है. वंदे भारत एक्सप्रेस एक सेमी-हाई स्पीड ट्रेन भी है और यह 180 किमी/ घंटे की रफ्तार पकड़ भी सकती है. हालांकि, पटरियों और अन्य कारकों की स्थिति के कारण, यह देश में 130 किमी/घंटा की अधिकतम गति से भी चलती है. वहीं इस ट्रेन के दिल्ली और जयपुर के बीच इसकी गति 130 किमी/घंटा तक होने की संभावना है.

राजस्थान की राजधानी जयपुर से बीजेपी सांसद केंद्र सरकार रेल मंत्री से मिले

जयपुर के भाजपा सांसद रामचरण बोहरा ने शुक्रवार को केंद्रीय रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव से मुलाकात कर जयपुर के लिए कई विकास परियोजनाओं पर चर्चा भी की. और बताया जा रहा है कि इस दौरान जयपुर के लिए 900 करोड़ रुपये की रेलवे परियोजनाओं के बारे में भी चर्चा हुई. टाइम्स नाउ की खबर के मुताबिक , रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बीजेपी सांसद रामचरण बोहरा को बताया कि रेल मंत्रालय जयपुर के सांगानेर रेलवे स्टेशन का सौंदर्यीकरण भी करेगा और जयपुर से सवाई माधोपुर के बीच रेल लाइनों का दोहरीकरण भी जल्द करेगा.

इसके अलावा, ट्रैफिक को आसान बनाने के लिए डिग्गी-मालपुरा क्रॉसिंग पर एक अंडरपास भी जल्द बनाया जाएगा. खातीपुरा रेलवे स्टेशन का भी जीर्णोद्धार किए जाने की उम्मीद भी है. रेल मंत्रालय राजस्थान के 4 जिलों- जयपुर, जोधपुर, कोटा और उदयपुर से दिल्ली के लिए 4 वंदे भारत ट्रेनें चलाने की योजना भी बना रहा है. अधिकारियों ने इसके लिए कई ट्रायल रन सफलतापूर्वक भी किए हैं. इन चारों ट्रेनों पर 500 करोड़ रुपये तक खर्च होंगे.