The Chopal
पंजाब के एक सरकारी गोदाम से 1800 क्विंटल गेहूं हुआ गायब, अब मामले में हुआ बड़ा एक्शन
 

The Chopal, Punjab: फूड सप्लाई विभाग के एक सरकारी गोदाम से 1800 क्विंटल गेहूं के कम होने की सूचना ने सनसनी मचा दी है। संबंधित इंस्पेक्टर हीरा चौहान का (भूमिगत) कोई पता नहीं है और वह कई दिनों से दिखाई नहीं दे रहा है। जिला फूड सप्लाई कंट्रोलर मैडम संजोगिता ने इंस्पेक्टर हीरा चौहान को सस्पेंड कर दिया है। वहीं इस मामले में जिला फूड सप्लाई कंट्रोलर ने पुलिस को उसके खिलाफ कार्रवाई करने की सिफारिश भी की है।

जानकारी के मुताबिक गुमटाला स्थित सरकारी गोदाम से 1800 क्विंटल गेहूं कम होने की अचानक सूचना ने विभाग को चौकन्ना कर दिया। इसको लेकर बाहर से आई टीम द्वारा जब इसकी प्राथमिक जांच की तो कम पाया गया। बताया जाता है कि टीम ने इस मामले को लेकर 26 डिपो होल्डर के बयान दर्ज किए हैं, जिसमें मुख्य मामला यह है कि गोदाम से गायब हुआ माल डिपो होल्डरों को भेजा गया था। 

वहीं सूत्रों का कहना है कि डिपो होल्डरों को यह भेजा गया माल मात्र ईवे बिलिंग में ही कथित तौर पर दर्शाया गया है, जबकि इसकी खेप डिलीवर नहीं की गई। पता चला है कि विभाग को धोखा देने की नियत में संबंधित अधिकारी ने ई.वे. बिल के माध्यम से डिपो होल्डरों को स्टॉक खातों में तो डिलीवर तो कर दिया था लेकिन इसके साथ ही माल की डिलीवरी देनी होती है जो नहीं दी गई।

यहां से डिपो होल्डरों का पक्ष मजबूत हो जाता है उन्होंने किसी भी माल के प्राप्त किए जाने को तस्दीक नहीं किया। उधर संदेहास्पद पहलू है कि यदि माल की डिलीवरी की होती तो इंस्पेक्टर उसके संबंधित दस्तावेज विभाग की फाइलों में रखता। इन सब मामलों को का सामना करने की बजाय इंस्पेक्टर भूमिगत हो जाना इस बात का सूचक है कि घोटाला जानबूझकर किया गया है। सूत्रों का कहना है कि फूड सप्लाई विभाग के अधिकारी इस मामले की तह में पहुंचने के लिए पूरा प्रयास कर रहे हैं।

Also Read: 7th pay commission कर्मचारियों के लिए अच्छी खबर, बेसिक सैलरी पर आया अपडेट, ये नियम लागु होंगे