The Chopal
आधार कार्ड से संबंधित नियमों में हुए बदलाव, जानिए नए नियम
 

New Delhi: यूआईडीएआइ (UIDAI ) ने ग्राहकों के लिये आधार सत्यापन (Aadhaar Authentication) की राशि 20 रुपये से घटाकर 3 रुपये कर दी है. एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए यूआईडीएआई के सीईओ (CEO) सौरभ गर्ग ने इसकी जानकारी दी देते हुए कहा कि वित्तीय प्रौद्योगिकी क्षेत्र में आधार का लाभ उठाने की अपार संभावनाएं हैं.

वेरिफिकेशन प्राइस घटा

गौरव गर्ग ने कहा कि प्रति वेरिफिकेशन की दर 20 रुपए से घटाकर 3 रुपए कर दी गई है. इसका उद्देश्य यह सुनिश्चित करना है कि विभिन्न एजेंसियों संस्थान सरकार द्वारा तैयार डिजिटल बुनियादी ढांचे का बेहतर उपयोग कर सकें.

लगभग 99 करोड लोगों ने किया इस्तेमाल

अब तक करीब 99 करोड की केवाईसी के लिए आधार प्रणाली का उपयोग किया जा चुका है. यूआईडीएआई किसी के साथ बायोमेट्रिक समझा नहीं करता और अपने सभी भागीदारों से अपेक्षा करता है कि वह सामान सत्र की सुरक्षा और गोपनीयता बनाए रखें जैसा कि प्राधिकरण करता है.

आधार देश में अनिवार्य दस्तावेज 

आधार देश में एक अनिवार्य दस्तावेज है. केंद्र सरकार ने तमाम योजनाओं को आधार से लिंक कर दिया है. 54 मंत्रालयों की लगभग 311 केंद्रीय योजनाएं आधार का उपयोग करते हुए प्रत्यक्ष लाभ हस्तांतरण (DBT) प्लेटफॉर्म के तहत आती है.

किसानों के लिए सरकार की चलाई गई योजना जैसे- पीएम-किसान निधि योजना आधार प्लेटफॉर्म पर आधारित है, जिसके तहत लगभग 10 करोड़ किसानों को हर चार महीने के बाद 2000 रुपये ट्रांसफर किए जा रहे हैं. आधार वेरिफिकेशन का मतलब है कि किसी योजना के लाभार्थी की सही पहचान करने के लिए आधार संख्या का इस्तेमाल किया जा रहा है.