The Chopal

New Expressway : हरियाणा, UP व दिल्ली वालों को मिली FNG एक्सप्रेस की बड़ी सौगात

 

THE CHOPAL- दिल्ली-NCR में रहने वाले लोगों के लिए एक और बहुत अच्छी खबर सामने आई है। बता दे की UP और हरियाणा सरकार दोनों मिलकर फरीदाबाद-नोएडा-गाजियाबाद एक्‍सप्रेसवे का निर्माण भी कर रही है। इस एक्‍सप्रेसवे बन के तैयार हो जाने के बाद दिल्ली-NCR के कई शहरों की दूरियां भी घट जाएंगी। खासकर नोएडा, ग्रेटर नोएडा, गाजियाबाद, दादरी और बुलंदशहर में प्रस्तावित इस न्यू नोएडा, फरीदाबाद सहित UP और हरियाणा के कई और जिलों में आवागमन की सुविधा और काफी ज्यादा आसान भी हो जाएगी। इस प्रोजेक्ट को पूरा करने के लिए यमुना नदी पर एक और पु‍ल बनाने का भी प्लान तैयार भी कर लिया गया है। इस पुल के निर्माण में आधा पैसा हरियाणा और आधा नोएडा प्राधिकरण भी देगा.

ये भी पढ़ें - Cows Breed - इस गाय की नस्ल आपको बना देगी मालामाल, घी बिकता 6 हजार रुपये किलो 

इस एक्सप्रेसवे को जोड़ने के लिए यमुना नदी पर बन रहे 600 मीटर पुल पर तकरीबन 300 करोड़ रुपए का खर्च आने का अनुमान है. फिलहाल इस पुल का अलाइनमेंट का काम फाइनल नहीं हुआ है. वहीं, अगर पुल की एप्रोच रोड की बात करें तो नोएडा अपनी तरफ से एप्रोच रोड बनवाएगा और फरीदाबाद की तरफ हरियाणा सरकार काम करवाएगा.

दिल्ली-NCR के लिए कितना अहम है यह एक्सप्रेसवे-

दिल्ली-NCR की अहम कनेक्टिविटी वाले इस प्रोजेक्ट में पिछले कई माह से कुच पेंच फंस गया था। यमुना नदी पर बनने वाली इस पुल की जिम्मेदारी लेने से ने तो हरियाणा सरकार और न ही नोएडा प्राधिकरण यानी UP सरकार ही तैयार भी थी।  लेकिन, NCR प्लानिंग बोर्ड ने अब इसका समाधान निकाल भी लिया है. हरियाणा सरकार औऱ नोएडा प्राधिकऱण दोनों मिलकर इस पुल का रखरखाव भी देखेगी। इसके लिए दोनों ने एक-दूसरे को स्वीकृति भी दे दी है.

ये भी पढ़ें - सरसों खरीद को लेकर किसानों व पुलिस की बीच झड़प, जानें क्या है माजरा 

आपको बता दें कि इस एक्सप्रेसवे प्रोजेक्ट को हरियाणा के मास्टर प्लान में भी शामिल भी किया जा चुका है. ऐसे में यह एक्सप्रेसवे दिल्ली-NCR के लिए अहम कड़ी साबित भी हो सकता है. इसके लिए यमुना नदी पर बनने वाले पुल का डीपीआर पीडब्ल्यूडी तैयार भी कराएगी. नोएडा की तरफ से एफएनजी का अलाइनमेंट एक्सप्रेसवे तक तय भी है। इस पुल का निर्माण मंगरौली के आसपास यमुना नदी के पास भी होगा। फरीदाबाद-नोएडा-गाजियाबाद की सीधी कनेक्टिविटी को NCR प्लानिंग बोर्ड ने भी जरूरी भी माना है.