The Chopal

Wine : अरबों टन शराब पीते हैं इस राज्य के लोग, जाने पहले नंबर का राज्य

 

THE CHOPAL - एक रिपोर्ट के अनुसार , भारत में लगभग 16 करोड़ लोग अल्कोहल का सेवन भी करते हैं. इनमें 95 % पुरुष हैं, जिनकी उम्र  18 से 49 साल के बीच भी है. देश में हर वर्ष अरबों लीटर शराब की खपत भी होती है। आपको बता दे की सर्वे कंपनी क्रिसिल ने जो रिपोर्ट जारी की थी, उसके अनुसार साल 2020 में 5 राज्य आंध्र प्रदेश, तेलंगाना, तमिलनाडु, कर्नाटक और केरल.. देश में बिकी कुल शराब का लगभग 45 % सेवन कर गए थे. क्या आप जानते हैं देश में किस राज्य में सबसे अधिक शराब पीते हैं?

ALSO READ - मौसम पर बड़ा अपडेट, राजस्थान में सक्रिय होगा नया पश्चिम विक्षोभ से ओलो के साथ बारिश का अलर्ट जारी 

सबसे अधिक शराब की खपत वाले राज्यों में टॉप पर नाम आता है छत्तीसगढ़ का. लगभग 3 करोड़ जनसंख्या वाले प्रदेश छत्तीसगढ़ में लगभग 35.6 % प्रतिशत लोग शराब का सेवन करते हैं. त्रिपुरा इस लिस्ट में दूसरे स्थान पर है. त्रिपुरा में 34.7 % लोग शराब का सेवन करते हैं. इनमें 13.7 % लोग नियमित रूप से शराब का सेवन करते हैं. तीसरे नंबर पर शामिल आंध्र प्रदेश में लगभग 34.5 % लोग शराब का नियमित सेवन करते हैं. लिस्ट में चौथा नंबर है पंजाब का. लगभग 3 करोड़ की आबादी वाले पंजाब में 28.5 % लोग शराब का सेवन करते हैं. इनमें नियमित शराब पीने वालों का आंकड़ा 6 % है. 5वें नंबर पर शामिल अरुणाचल प्रदेश की 28 % आबादी शराब का सेवन करती है. वहीं छठे नंबर पर शामिल गोवा में करीब 26.4 % आबादी शराब का सेवन करती है. 7वें नंबर पर आता है केरल का नंबर. NFHS की रिपोर्ट के मुताबिक, 19.9 % लोग शराब का सेवन करते हैं.

ALSO READ - Gold Price: विवाह के सीजन में फिर से महंगा हुआ सोना और चांदी, जाने आज का ताज़ा भाव 

आठवां नंबर है पश्चिम बंगाल का. करीब 10 करोड़ की जनसंख्या वाले इस प्रदेश में 14 % यानी करीब 1.4 करोड़ लोग शराब का सेवन करते हैं. 7.3 करोड़ की आबादी वाले तमिलनाडु में करीब 15 % लोग शराब का सेवन करते हैं. 10वें नंबर पर आता है कर्नाटक. 6.2 करोड़ की आबादी वाले कर्नाटक में करीब 11 % लोग शराब का सेवन करते हैं. संख्या के लिहाज से देखें तो इकॉनोमिक रिसर्च एजेंसी ICRIER और लॉ कंसल्टिंग फर्म PLR Chambers की रिपोर्ट के अनुसार, देश में सबसे ज्यादा शराब पीने वालों की संख्या उत्तर प्रदेश में है. इसके बाद पश्चिम बंगाल का नंबर आता है. शराबबंदी वाले राज्य बिहार और गुजरात को छोड़ दें तो राजस्थान (2.1 %) और मेघालय (3.4 %) में सबसे कम शराब का सेवन होता है।