The Chopal

Generate Digital Life Certificate: इस सर्टिफिकेट को जमा कराने का गया है समय, डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट को जनरेट इस तरह करें

 

The Chopal, New Delhi: सभी सेवानिवृत्त केंद्रीय कर्मचारियों को अपनी पेंशन जारी रखने के लिए प्रत्येक वर्ष पेंशन भुगतान प्राधिकरण को जीवन प्रमाण पत्र प्रस्तुत करना होगा. इसे नवंबर में पेश किया गया है. जीवन प्रमाण पत्र पूरे महीने में कभी भी जमा किया जा सकता है. ऐसा नहीं करने की स्थिति में पेंशनभोगी की पेंशन निलंबित की जा सकती है. यह आमतौर पर सेवानिवृत्त लोगों द्वारा बैंकों में जमा किया जाता है, लेकिन इसे डिजिटल रूप से भी जमा किया जा सकता है.

पेंशनभोगी अपना जीवन प्रमाण अपने घर बैठे ही जीवन प्रमाण पोर्टल पर जमा कर सकते हैं. इसके लिए आपको पोर्टल पर अपनी पहचान सत्यापित करनी होगी. UIDAI ने सेवानिवृत्त लोगों की पहचान सुनिश्चित करने के लिए बायोमेट्रिक उपकरणों की एक सूची प्रदान की है. जिसे UIDAI की वेबसाइट पर देखा जा सकता है. डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र प्रस्तुत करने के लिए पेंशन खाते को आधार प्रणाली से जोड़ना आवश्यक है.

डिजिटल लाइफ सर्टिफिकेट कहां से प्राप्त करें

डिजिटल जीवन प्रमाण पत्र आप बैंक, सरकारी कार्यालय, डाकघर या जीवन प्रमाण एप से प्राप्त कर सकते हैं. जीवन प्रमाण एप https://jeevanpramaan.gov.in/ से डाउनलोड किया जा सकता है. यहां से जीवन प्रमाण पत्र बनवाने के लिए बायोमेट्रिक फिंगरप्रिंट या आइरिस स्कैनिंग डिवाइस का होना जरूरी है.

जीवन प्रमाण पत्र कैसे बनता है

  • जीवन प्रमाण ऐप में, पेंशनभोगी की जानकारी जैसे आधार विवरण और मोबाइल नंबर दर्ज करें.
  • इसके बाद दिए गए मोबाइल नंबर पर एक ओटीपी आएगा.
  • ओटीपी ऑथेंटिकेशन के बाद आप ऐप से डीएलसी जेनरेट कर सकते हैं.
  • ऐप में पेंशनभोगी का आधार विवरण, पेंशन भुगतान आदेश, बैंक खाता विवरण और फोन नंबर दर्ज करें.
  • इसके बाद बायोमेट्रिक ऑथेंटिकेशन पूरा करें.
  • प्रमाणीकरण पूरा होने के बाद, जीवन प्रमाण प्रमाण पत्र आईडी के साथ पंजीकृत मोबाइल नंबर पर एक संदेश प्राप्त होगा.
  • अब पेंशन वितरण एजेंसी जीवन प्रमाण वेबसाइट से कभी भी आपके डीएलसी तक पहुंच सकती है.
  • गौरतलब है कि जीवन प्रमाण फेस ऐप का इस्तेमाल करते समय बायोमेट्रिक डिवाइस की जरूरत नहीं होगी.

Read Also: बच्चों की पढ़ाई का खर्च बढ़ रहा, तो बच्चों के भविष्य को सुनहरा करने लिए इन फंड्स में करें SIP, सिर्फ ₹5000 का निवेश 14 लाख बनेगा