The Chopal

Edible Oil: भारत ने दिसंबर में जमकर वनस्पति तेलों का किया आयात, देश में सस्ते होंगे खाद्य तेल

 

The Chopal, नई दिल्ली:  भारत देश की रिफाइंड पामोलिन और कच्चे पाम तेल (सीपीओ) के निर्यात में बढ़ोतरी से खाद्य और अखाद्य तेल समेत वनस्पति तेलों का आयात दिसंबर 2022 में 28 % बढ़कर 15.66 लाख टन तक हो गया. सॉल्वेंट एक्सट्रैक्टर्स एसोसिएशन ऑफ इंडिया (एसईए) ने एक बयान में बताया कि दिसंबर 2022 के दौरान वनस्पति तेलों का आयात एक साल पहले के 12,26,686 टन की तुलना में 15,66,129 टन तक अधिक हो गया.

मिले आंकड़ों के अनुसार, खाद्य तेलों का आयात 12,16,863 टन से बढ़कर 15,55,780 टन तक हो गया, जबकि अखाद्य तेलों का आयात 9,832 टन से बढ़कर 10,349 टन तक हो गया. खाद्य तेल श्रेणी में, रिफाइंड (आरबीडी) पामोलिन का आयात दिसंबर 2022 में बढ़कर 2,56,398 टन तक हो गया, जो एक साल पहले की अवधि में केवल 24,000 टन तक था. कच्चे पाम तेल (सीपीओ) का आयात 5,28,143 टन के मुकाबले बढ़कर 8,43,849 टन तक हो गया. बता दे कि वनस्पति तेल वर्ष नवंबर से अगले वर्ष अक्टूबर तक भी चलता है.

एक साल पहले की अवधि में यह आयात सिर्फ 82,267 टन तक का हुआ था

नवंबर-दिसंबर 2022 के दौरान, वनस्पति तेलों का आयात पिछले वर्ष की इसी अवधि के 24,00,433 टन की तुलना में 30 % बढ़कर 31,11,669 टन तक हो गया. नवंबर-दिसंबर 2022 के दौरान रिफाइंड पामोलिन और सीपीओ (क्रूड पाम ऑयल) का आयात तेजी से भी बढ़ा. आंकड़ों के मुताबिक नवंबर-दिसंबर 2022 के दौरान 4,58,646 टन रिफाइंड तेल (सभी आरबीडी पामोलिन) का आयात भी किया गया था, जबकि एक साल पहले की अवधि में यह आयात सिर्फ 82,267 टन तक का हुआ था.

बीते दो महीनों में 26,25,894 टन कच्चे तेल का आयात किया गया

एसईए ने कहा कि इसी तरह, नवंबर-दिसंबर 2021 के 22,73,419 टन की तुलना में पिछले दो महीनों में 26,25,894 टन कच्चे तेल का आयात भी किया गया. परिणामस्वरूप, रिफाइंड तेलों की हिस्सेदारी तीन % से बढ़कर 15 % तक हो गई, जबकि कच्चे तेल की हिस्सेदारी पिछले वर्ष के 97 % की तुलना में घटकर 85 % रह गई. इंडोनेशिया और मलेशिया -भारत को आरबीडी पामोलिन और क्रूड पाम ऑयल के प्रमुख आपूर्तिकर्ता भी हैं. बता दे कि देश, अर्जेंटीना और ब्राजील से सोयाबीन तेल का आयात करता है.

तेल का हिस्सा 53 % से घटकर 27 % रह गया

भारत खाद्य तेलों की अपनी कुल घरेलू मांग का लगभग 60 % आयात करता है. एसईए ने कहा, नवंबर-दिसंबर 2022 के दौरान पाम ऑयल का आयात 1,105,582 टन से तेजी से बढ़कर 22,50,924 टन तक हो गया, जबकि सॉफ्ट ऑयल (हल्के खाद्यतेलों) का आयात नवंबर-दिसंबर 2021 के 12,50,104 टन से घटकर 8,33,616 टन तक रह गया है. पाम तेल का हिस्सा 47 % से बढ़कर 73 % तक हो गया जबकि नरम (सॉफ्ट) तेल का हिस्सा 53 % से घटकर 27 % तक रह गया.

Also Read: Bullet Train: राजस्थान में भी चलेगी बुलेट ट्रेन, इन 7 जिलों में बनेगे 9 स्‍टेशन, देखें पूरी परियोजना