The Chopal

Milk Price Hike: भारत में दूध के दाम में लगातार क्यों देखा जा रहा इजाफा, अब कंपनी ने बताया कारण

 

The Chopal: बीते कई दिनों से सूखे चारे के चलते दूध के दामों में बढ़ोतरी देखी जा रही है। देश की दूध उत्पाद बनाने वाली कंपनी मदर डेयरी ने एक बार फिर दूध के भाव में इजाफा किया है। और कंपनी ने कच्चे दूध की खरीद में बढ़ती कीमत का हवाला देते हुए दाम बढ़ाए है। मदर डेयरी के अनुसार फीड और चारे महंगे होने की वजह से किसानों को दूधारू मवेशियों पर अधिक खर्च करने पड़ रहे हैं. ऐसे में उसे किसानों से महंगी दर पर कच्चा दूध अब खरीदना भी पड़ रहा है. यही वजह है कि मदर डेयरी ने किसानों की लागत का हवाला देते हुए दूध की कीमतों में यह बढ़तोरी की है. वहीं, मदर डेयरी का ये भी कहना है कि वह उपभोक्ताओं द्वारा भुगतान की जाने वाली कीमतों का करीब 75-80 % दूध उत्पादकों (किसानों) को देती है. ऐसे में कीमतों में बढ़ोतरी से किसानों को ही लाभ मिलेगा.

और खास बात यह है कि मदर डेयरी ने इस साल के अंदर चौथी बार दूध के दाम में बढ़ोतरी की हैं. इससे पहले कंपनी ने बीते अक्टूबर महीने में दूध की कीमतों में बढ़ोतरी की थी. कंपनी ने फुल क्रीम दूध पर दो रुपये प्रति लीटर की बढ़ोतरी भी की थी. वहीं, मदर डेयरी के बाद अमूल ने भी दूध के दाम कुछ बढ़ा दिए थे. तब अमूल ने 2 रुपए प्रति लीटर की दर से कीमतों में इजाफा भी किया था. ऐसे में आशंका जताई जा रही है कि अब मदर डेयरी के बाद अमूल कंपनी भी दूध की कीमतों में बढ़ोतरी करने का फैसला भी कर सकती है.

मदर डेयरी द्वारा 30 लाख लीटर से अधिक दूध आपूर्ति

जानकारी के अनुसार, आज से दिल्ली- एनसीआर के लोगों को मदर डेयरी के एक लीटर फुल क्रीम दूध के लिए एक रुपये ज्यादा खर्च करना होगा. इसी तरह टोकन दूध पर दो रुपये प्रति लीटर की दर से कीमतों में इजाफा किया गया है. दरअसल, मदर डेयरी दिल्ली-एनसीआर दूध सप्लाई करने वाली एक बहुत ही बड़ी कंपनी भी है. यह प्रति दिन 30 लाख लीटर से अधिक दूध आपूर्ति भी करता है. खास बात यह है कि मदर डेयरी ने चौथी बार इस साल दूध की कीमतों में बढ़ोतरी करने का फैसला भी किया है.

50 रुपये प्रति लीटर में बेचा जाएगा दूध 

अब कंपनी के प्रवक्ता ने कहा कि मदर डेयरी ने फुल क्रीम दूध की कीमत एक रुपये बढ़ाकर 64 रुपये प्रति लीटर तक कर दी है. हालांकि, कंपनी ने 500 एमएल के पैक में बिकने वाले फुल क्रीम दूध की कीमतों में कोई बदलाव भी नहीं किया है. वहीं, टोकन दूध (थोक में बेचा जाने वाला दूध) सोमवार से 48 रुपये प्रति लीटर के मुकाबले 50 रुपये प्रति लीटर में अब बेचा जाएगा. दूध की कीमतों में बढ़ोतरी ऐसे समय में घरेलू बजट को प्रभावित भी करेगी जब खाद्य मुद्रास्फीति पहले से ही उच्च स्तर पर ही है.

इसलिए बढ़ाया दूध का दाम

मदर डेयरी ने कीमतों में बढ़ोतरी के लिए डेयरी किसानों से कच्चे दूध की खरीद लागत में वृद्धि को जिम्मेदार अब ठहराया है. प्रवक्ता ने कहा कि इस साल पूरे डेयरी उद्योग में दूध की मांग और आपूर्ति में भारी अंतर कंपनी द्वारा देखा जा रहा है. कंपनी ने कहा कि चारे महंगे होने की वजह से उन्हें भी किसानों के महंगे रेट पर दूख खरीदने अब पड़ रहे हैं. इसके अलावा, मदर डेयरी ने कहा कि प्रसंस्कृत दूध की मांग भी बढ़ी है. त्योहारी सीजन के बाद भी मांग-आपूर्ति में जारी बेमेल ने कच्चे दूध की कीमतों में और मजबूती भी ला दी है. इसलिए हम कुछ वैरिएंट के उपभोक्ता कीमतों में संशोधन के साथ प्रभाव को आंशिक रूप से पारित करने के लिए भी विवश हैं.

Also Read: ग्वार में आज फिर भारी तेजी, इन मंडियो में पहुंचा 7 हजार पार, देखें ताज़ा मंडी भाव