The Chopal

अब गूगल क्रोम में Passkeys से करें लॉगइन, दोबारा लॉगइन करने की जरूरत नहीं होगी

 

The chopal, New Delhi: जिस तरह स्मार्टफोन को अनलॉक करने के लिए पैटर्न या पासवर्ड की जरूरत होती है. इसी तरह आप सिर्फ एक बार गूगल क्रोम ब्राउजर में लॉग इन करके किसी भी वेबसाइट पर जा सकते हैं. इसके लिए सभी वेबसाइटों पर बार-बार पासवर्ड डालने की जरूरत नहीं होगी. आप इसे Passkeys के जरिए इस्तेमाल कर पाएंगे. गूगल क्रोम ब्राउजर में किसी भी वेबसाइट में लॉग इन करने के बाद लोग दोबारा विजिट करने पर पासवर्ड डालते हैं.

अगर आप भी एक ही वेबसाइट पर जाने के लिए बार-बार पासवर्ड डालते हैं तो अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है. स्वतः भरण सुविधा अब Google Chrome ब्राउज़र में उपलब्ध है. इसके अलावा फिंगरप्रिंट या पासवर्ड लगाकर इसे प्रोटेक्ट किया जा सकता है. ज्यादातर लोगों को इस फीचर के बारे में पता नहीं होता है. किसी भी वेबसाइट पर पहली बार जाने पर पासवर्ड डालने के बाद दोबारा लॉग इन करने की जरूरत नहीं है.

क्या है गूगल क्रोम Passkeys

जिस तरह स्मार्टफोन को इस्तेमाल करने से पहले पैटर्न या फिंगरप्रिंट लगाकर अनलॉक किया जाता है. इसी तरह अब आप गूगल क्रोम ब्राउजर में भी अलग से पासवर्ड सेट कर सकते हैं. किसी को भी स्मार्टफोन या लैपटॉप सौंपने से पहले पासवर्ड डालकर वेबसाइट को प्रोटेक्ट करना बहुत आसान है. ज्यादातर लोग अलग-अलग वेबसाइटों में लॉग इन करते समय गूगल क्रोम ब्राउजर से लॉग आउट करना भूल जाते हैं. ऐसे में आप Google

Chrome Passkeys का इस्तेमाल कर सकते हैं.

Passkeys ऑटो फील से कैसे अलग है
कुछ लोग किसी भी वेबसाइट पर जाने के बाद उसका पासवर्ड गूगल क्रोम ब्राउजर में सेव कर लेते हैं. ऐसे में उन्हें दोबारा उस वेबसाइट पर जाते समय पासवर्ड टाइप करने की जरूरत नहीं होती है. वहीं, अगर स्मार्टफोन या लैपटॉप दूसरे गलत हाथों में पड़ जाता है, तो चाबी की सुरक्षा को लेकर भी खतरा बना रहता है. आप ऑटोफिल फीचर के जरिए बिना पासवर्ड डाले लॉग इन कर सकते हैं. वहीं दूसरी तरफ एक्सेस कीज का इस्तेमाल सिर्फ क्रोम ब्राउजर के इस्तेमाल के लिए किया जाता है.

इस डिवाइस पर Passkeys सुविधा का उपयोग करें

गूगल क्रोम ब्राउजर में एक्सेस की फीचर का इस्तेमाल करने के लिए सबसे पहले गूगल क्रोम ब्राउजर में अपना ईमेल आईडी और पासवर्ड डालकर लॉग इन करें. इसके बाद पासकी को अपने हिसाब से सेट करें. यह सुविधा वर्तमान में MacBook OS, Android और Windows 11 संस्करणों के लिए उपलब्ध है. किसी भी वेबसाइट पर जाते समय, आप पासवर्ड दर्ज करने से पहले एक्सेस कुंजी दर्ज करके बहुत आसानी से लॉग इन कर सकेंगे.

अब WhatsApp पर किसी स्पेशल के लिए एक अलग रिंगटोन को इन स्टेप्स से सेट करें, तरीका बहुत आसान है