The Chopal
Haryana Weather: हरियाणा में कई जगह बूँदा-बाँदी से लुढ़का पारा, जानें मौसम विभाग का ताजा अपडेट
 

The Chopal, Haryana: वैसे इस मानसून लगभग मिला-जुला असर दिखाई दे रहा है। वही हरियाणा में  दक्षिण पश्चिम मानसून सीजन में कम बारिश के चलते 10 जिले कम वर्षा के कारण रेड जोन में हैं। ये जिलें पंचकूला, अंबाला, यमुनानगर, सोनीपत, रोहतक, भिवानी, रेवाड़ी, गुरुग्राम, फरीदाबाद और नूंह है। वही 10 जिलों हिसार, जींद, कैथल, कुरुक्षेत्र, करनाल, पानीपत, झज्जर, चरखी दादरी, महेंद्रगढ़, पलवल को मौसम विभाग के मुताबिक ग्रीन जोन में रखा गया है। इसके साथ राज्य के मौसम विभाग के मुताबिक सितंबर के 17 दिनों में प्रदेश में 79 प्रतिशत कम बारिश हुई है। अब जब मानसून विदाई की ओर है तो इस स्थिति को कुछ हद तक मौसम विज्ञानी मौसमी स्थिति को ठीक मान रहे हैं।

मौजूदा समय में प्रदेश में दिन के समय तापमान आमतौर पर सामान्य से ज्यादा है। जबकि रात्रि का तापमान लगातार कम होता जा रहा है। मगर आगामी दिनों में मौसम में कुछ बदलाव रहने की संभावना है। मौसम विज्ञानियों की मानें तो आने वाले दिनों में दिन का तापमान बढ़ने से लोगों को गर्मी का ज्यादा अहसास होगा। वहीं रात के समय तापमान में गिरावट भी देखने भी को मिल सकती है। रविवार से लेकर सोमवार तक तापमान सामान्य रहा। मंगलवार को कुछ हिस्सों में बारिश भी दर्ज हुई है। पर मौसम विभाग द्वारा आंकड़ों मुताबिक सिंतंबर माह में बीते मानसून से 79 प्रतिशत तक कम बारिश राज्य में हुई है।  

 21 सितंबर तक मौसम में बदलाव 

राज्य के चौधरी चरण सिंह हरियाणा कृषि विश्वविद्यालय के कृषि मौसम विज्ञान विभाग के अध्यक्ष डा. मदन खिचड़ ने मौसम अपडेट को लेकर बताया कि मानसून टर्फ की अक्षय रेखा सामान्य स्थिति की तरफ होने तथा कम दबाव का  क्षेत्र उत्तर प्रदेश पर बनने से मानसूनी हवाओं की दिशा में बदलाव आने से ये हवाएं मध्यप्रदेश से राजस्थान की तरफ न बढ़कर उत्तरप्रदेश की तरफ अधिक बढ़ रही हैं। ऐसे में 19 सितम्बर से 21 सितंबर के दौरान राज्य के ज्यादातर क्षेत्रों में मौसम परिवर्तनशील रहने की संभावना भी है। हरियाणा में बीच बीच में आंशिक बादल व हल्की गति से हवाएं चलने की संभावना भी हैं । इस दौरान दिन के तापमान में हल्की बढ़ोतरी होने की संभावना भी बन रही है।  

Also Read: फिर गलत साबित हुआ मौसम विभाग का पूर्वानुमान, देश में इतने दिन और जारी रहेगा मानसून और बारिश का दौर