The Chopal
मानसून ने किया हताश, 7 राज्यों में औसत से कम बारिश दर्ज, इन खरीफ फसलों पर उत्पादन घटने का साया
 

The Chopal, New Dehli: इस बार मानसून ने धोखा देश के कई राज्यों में धोखा दे दिया है। लगभग 7 राज्यों में इस साल औसत से कम बारिश देखी गई है। उत्तर प्रदेश राज्य में भी 37% तक कम बारिश देखी गई है। जिसका असर खरीफ फसलों के उत्पादन पर भी पड़ेगा। देश में खरीफ उत्पादन के जारी ताजा आंकड़ों के मुताबिक 2022-23 में चावल का उत्पादन घटने के आसार हैं।

कृषि मंत्रालय द्वारा जारी खरीफ फसल के आंकड़ों से पता चलता है कि इस बार चावल 104.99 लाख टन पैदा होने की उम्मीद जबकि पिछले साल चावल का उत्पादन 111.76 लाख टन तक हुआ था. देश के उप्र, पश्चिम बंगाल, बिहार, झारखंड और पूर्वोत्तर राज्यों में हुई कम बारिश का असर चावल के उत्पादन पर पड़ने की संभावना भी है.  पिछले साल के मुकाबले लगभग 6 लाख टन चावल की पैदावार कम होने का पूर्वानुमान जारी आंकड़ों में पता चलता है, हालांकि कृषि मंत्रालय बीते पांच साल में औसतन पैदावार बढ़ने की बात भी कह रहा है. 

खरीफ की फसल के कुल 149.92 लाख टन तक होने की उम्मीद है, जबकि पिछले साल 156 .04 लाख टन तक उत्पादन था. वहीं मक्के की पैदावार इस साल 23.10 मिट्रिक टन तक रहने वाली है जो पिछले साल के मुकाबले अधिक है. दाल की पैदावार 8.37 लाख टन तक रहने वाली है, जो पिछले साल के बराबर ही है, जबकि इस साल तिलहन की पैदावार 23.57 लाख टन तक रहने की उम्मीद है. वहीं गन्ने की 465..05 लाख टन पैदावार की उम्मीद है जो पिछले साल के मुकाबले अधिक है.

Also Read: खुशखबरी! सरकार ने दोबारा चालू किया ये पोर्टल, किसानों को मिलेगा लाभ, अच्छे दामों में बिकेंगी फसलें